फेयर स्किन पाने के 4 आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

याद मत करो

घर सुंदरता त्वचा की देखभाल त्वचा की देखभाल oi- स्टाफ द्वारा Tanushree Kulkarni 13 मई 2016 को

किसी भी चैनल को स्विच करें और आपको सुंदर और निष्पक्ष त्वचा देने का दावा करने वाले फेयरनेस क्रीम विज्ञापनों में आना सुनिश्चित है।

आज, बाजार रासायनिक क्रीम से परिपूर्ण है जो आपकी निष्पक्षता को बढ़ाने का वादा करता है। इन क्रीम और मास्क में अक्सर हानिकारक विरंजन एजेंट होते हैं जो लंबे समय में त्वचा को नुकसान पहुंचा सकते हैं।

यह भी पढ़ें: आयुर्वेद के अनुसार केसर के अद्भुत उपयोग



प्रदूषक, रसायन, त्वचा की टैनिंग और रंजकता आपकी चमक को प्रभावित करते हैं। लेकिन, क्या होगा अगर मैंने तुमसे कहा था कि निष्पक्ष और उज्ज्वल त्वचा प्राप्त करना संभव है किसी भी साइड इफेक्ट्स?

निष्पक्ष त्वचा की खोज का उत्तर आयुर्वेद नामक प्राचीन विज्ञान में निहित है। इसकी उत्पत्ति वैदिक काल में होती है जब इसे ऋषि चरक द्वारा विकसित किया गया था।

प्राचीन काल से, लाखों लोगों ने इसका उपयोग न केवल सुंदर चमकती त्वचा पाने के लिए किया है, बल्कि कई बीमारियों का इलाज करने के लिए भी किया है।

यह भी पढ़ें: आयुर्वेद के साथ फटा एड़ी का इलाज

मैं तुम्हारे बगल में जागना पसंद करता हूं

कई आयुर्वेदिक घरेलू उपचार हैं जिनका उपयोग आप चमकदार त्वचा पाने के लिए कर सकते हैं। आज, हम बोल्डस्काई में अपने पूर्वजों द्वारा हमें दी गई चमकती त्वचा के लिए कुछ छिपे हुए रहस्यों का पता लगाएंगे।

आपकी त्वचा की रंगत को बढ़ाने के लिए यहां कुछ DIY आयुर्वेदिक उपचार दिए गए हैं।

फेयर स्किन पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

हल्दी (हल्दी)

हल्दी में महान जीवाणुरोधी गुण हैं और यह एक प्राकृतिक रंग बढ़ाने वाला भी है। यदि आप त्वचा की खामियों जैसे मुँहासे, असमान त्वचा टोन या त्वचा के टैन से पीड़ित हैं तो आप हल्दी भी लगा सकते हैं।

हल्दी का उपयोग कैसे करें?

चिकना पेस्ट बनाने के लिए दूध के साथ हल्दी मिलाएं। धीरे से चेहरे और गर्दन पर लगाएं। तुम भी अपने हाथों और पैरों पर एक सुंदर रंग भर के लिए उपयोग कर सकते हैं। निरंतर उपयोग के साथ, आप अपनी त्वचा पर एक प्राकृतिक चमक महसूस कर सकते हैं।

सामान्य ज्ञान

भारतीय उप-महाद्वीप में होने वाली शादियों में हल्दी नाम का एक सुंदर समारोह होता है, जहाँ हल्दी को अन्य आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों के साथ मिलाया जाता है। यह मिश्रण फिर दूल्हा और दुल्हन के लिए लागू किया जाता है। इस 'उबटन' का इस्तेमाल दूल्हा और दुल्हन को उनके बड़े दिन से पहले की कोमल और कोमल त्वचा देने के लिए किया जाता है।

फेयर स्किन पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

मुसब्बर वेरा

आयुर्वेद में घृतकुमारी के रूप में जाना जाता है, यह आमतौर पर इस्तेमाल किया आयुर्वेदिक जड़ी बूटी आपकी त्वचा के लिए एक वरदान है। यह न केवल आपकी त्वचा को ठीक करने और कायाकल्प करने में मदद करता है, बल्कि यह एक प्राकृतिक रंग को बढ़ाने वाला है।

एलो वेरा लगाने के तरीके

एलोवेरा और क्रीम का मिश्रण बनाएं। इसमें एक चुटकी हल्दी मिलाएं। इस पैक को अपने चेहरे और गर्दन पर लगाएं। जेल में मौजूद विटामिन सी निष्पक्षता सुनिश्चित करेगा और क्रीम आपकी त्वचा को प्रभावी रूप से मॉइस्चराइज करेगा।

फेयर स्किन पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

केसर उर्फ ​​केसर

हम भारतीय पीढ़ियों से केसर का उपयोग कर रहे हैं, चाहे वह हमारे भोजन का स्वाद लेने के लिए हो या खुद को सुंदर बनाने के लिए हो। अतीत में, रानियों ने इसका उपयोग एक सुंदर चमक प्राप्त करने के लिए किया था। यह इतना प्रभावी है कि इसके कुछ किस्में का उपयोग करना पर्याप्त है।

प्रयोग

रात भर केसर की कुछ किस्में भिगोएँ। सुबह में, इसे कुछ जैतून के तेल या बादाम के तेल और दूध के साथ मिलाएं। अपनी त्वचा पर एक कपास पैड का उपयोग करके इस मिश्रण को लगाएं। 20 मिनट के बाद इसे कुल्ला। हफ्ते में 2-3 बार इसका इस्तेमाल करने से आपको दमकती और गोरी त्वचा मिलेगी।

योग स्तन के आकार को कम करने का प्रयास करता है

फेयर स्किन पाने के आयुर्वेदिक घरेलू उपाय

Kumkumadi Tailam

यह आयुर्वेदिक तेल 16 तेलों का मिश्रण है। इसका उपयोग करने से आपकी त्वचा से मुंहासे और टैन हट जाएंगे, जिससे आपको एक उज्ज्वल रंग मिलेगा। धीरे से अपने चेहरे और गर्दन को इस तेल से धोएं। इस तेल से अपनी त्वचा की मालिश करें और इसे अपनी त्वचा में 20 मिनट तक भीगने दें। इसे गुनगुने पानी से धो लें।

तो, क्यों सिंथेटिक उत्पादों का उपयोग करें जब निष्पक्ष त्वचा का रहस्य हमारे बहुत ही शास्त्रों में निहित है, है ना?

लोकप्रिय पोस्ट