सूर्य नमस्कार के लाभ

याद मत करो

घर योग अध्यात्म विश्वास रहस्यवाद विश्वास रहस्यवाद ओइ-अमृषा द्वारा आदेश शर्मा 29 मई 2012 को

Surya Namaskar सूर्य नमस्कार सबसे प्रमुख और प्रसिद्ध योग गतिविधि है। यह वास्तव में वैदिक काल से पहले से है, और वेदों में सूर्य नमस्कार के लाभों के बारे में कई संदर्भ हैं। सूर्य नमस्कार का अर्थ वास्तव में 'सूर्य नमस्कार' है जो एक दैनिक गतिविधि है जो हिंदुओं द्वारा सूर्य देवता को शांतिपूर्ण और समृद्ध जीवन बनाए रखने के लिए किया जाता है। इसमें 12 पोज़ होते हैं, और इन 12 पोज़ को दो बार पूरा करने को एक चक्र माना जाता है।

इसके अलावा, यह आदित्य हृदयम का एक और प्राचीन अभ्यास भी है। ऋषि अगस्त्य ने रामायण ग्रंथ में रावण के साथ लड़ाई से पहले श्री राम को यह सिखाया था। भले ही सूर्य नमस्कार का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है, लेकिन यह अब केवल हिंदुओं द्वारा प्रचलित नहीं है। सूर्य नमस्कार का लाभ दूर-दूर तक फैला है, दुनिया भर के शिक्षकों ने इसे अपने छात्रों को भी पढ़ाया है।



आइए हम उन लाभों को देखें जो यह प्राचीन कला आपके तेजी से आधुनिक जीवन में ला सकती है।



मॉर्निंग स्टिफ़नेस - हम में से कितने लोग सुबह उठकर कठोर जोड़ों और कंधों के साथ उठते हैं जो बहुत कठोर महसूस करते हैं? हर सुबह पंद्रह मिनट सूर्य नमस्कार करने से आप लचीला महसूस कर सकते हैं और शरीर की अकड़न से भी छुटकारा पा सकते हैं!

तीव्र और ऊर्जावान - सूर्य नमस्कार थकान से लड़ता है और एकाग्रता में सुधार करता है। सरल मोड़ और मोड़ यह सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त हैं कि आपके शरीर और दिमाग को ताजगी का एहसास हो।



तनावमुक्त होना - कड़ी मेहनत के बाद खुद को तनावमुक्त करने के लिए शाम को सूर्य नमस्कार का अभ्यास करें। इस योग के कुछ सेट भी आपके दिमाग को शांत कर सकते हैं और आपको सक्रिय और सकारात्मक महसूस करा सकते हैं!

पाचन - का एक और फायदा Surya Namaskar पाचन तंत्र की सहायता के लिए है। फास्ट फूड की इस उम्र में और खाना खाने के लिए पढ़ें, इससे पाचन संबंधी समस्याएं बढ़ जाती हैं, जैसे कि गैस्ट्रिक, एसिडिटी, कब्ज आदि। सूर्य नमस्कार यह सुनिश्चित करता है कि अब आपके पास पूरे दिन फूला हुआ महसूस नहीं होगा।

आसन - हममें से ज्यादातर लोग रोज कंप्यूटर के सामने लगभग दस से बारह घंटे बिताने के आदी होते हैं, जिससे बहुत ही सुस्त मुद्रा हो जाती है, जो लंबे समय में बहुत हानिकारक होती है। सूर्य नमस्कार में खिंचाव हमारे शरीर के हर हिस्से को लयबद्ध तरीके से आगे बढ़ाता है। इससे शरीर में रक्त का प्रवाह बढ़ता है और शरीर के दर्द से राहत मिलती है।



तो आगे बढ़ो, इस सरल योग तकनीक को और अधिक स्वस्थ और सक्रिय जीवन शैली का नेतृत्व करने के लिए।

लोकप्रिय पोस्ट